साल 2017 में देखा गया Asteroid असलियत में था Alien Technology का नमूना!? Harvard Scientists के दावे से दुनिया हैरत में

Posted on

सन 2017 में Oumuamua नाम का एक Asteroid देखा गया था। जिसका अजीब तरीके का आकार था। Harvard University के एक Professor ने दावा किया कि ये कोई Asteroid नहीं था, बल्कि यह एक Alien Technology थी। जिसकी वजह से से अब सब हैरत में हैं।


वैज्ञानिक अभी तक इसी खोज में जुटे हुए हैं कि इस ब्रह्मांड में हमारी पृथ्वी के अलावा कहीं और भूली जीवन है या नहीं, हांलाकि हमारी धरती पर Alien के आने के कई दावे किए जा चुके हैं लेकिन अभी तक इसके कोई भी प्रमाण नहीं मिले हैं। अभी तक कोई भी ऐसा प्रमाण नहीं मिला है जिसके आधार पर ये कहा जा सके कि पृथ्वी के अलावा कहीं ओर भी जीवन सम्भव है। लेकिन Harvard University के Professor ने Alien के अस्तित्व का दावा किया है, और यह भी बताया कि लगभग 3 साल पहले हमारी पृथ्वी के करीब से भी गुजर चुके हैं।


दिखने में आम Space Rock नहीं था 

Harvard University के professor Avi Loeb का मानना है कि 19 Oct 2017 को देखी जाने वाली Space Rock Oumuamua असलियत में एक Alien के वजूद का सबूत थी। इसे University के Telescope PAN-STARRS1 की सहायता से देखा गया था। इसकी बनावट सिगार के आकार की थी, जो कि 1.93 मिल प्रतिघंटा की स्पीड से हमारी Earth के करीब से गुजरा था। इसको धूमकेतु या फिर Asteroid ही माना गया था। Professor Avi Loeb का मानना है कि ये कोई Normal Space Rock नहीं बल्कि Alien होने का सबूत था।


अजीब था आकर Oumuamua का 
University में Department Of Astronomy के Head Avi Loeb की आने वाली Book Extraterrestrial में उन्होंने बताया है कि वो ऐसा क्यों मानते हैं, और उन्होंने बताया कि Oumuamua सूरज की हर 8 घंटे में एक चमक सी Reflect करता है, जिससे यह पता चलता है कि Oumuamua हर 8 घंटे में अपने अपने केंद्र पर घूमता है। जबकि इससे पहले कभी किसी दूसरे Object का इस तरह का नहीं देखा गया। इसकी चमक दूसरे asteroid के मुकाबले 10 गुना अधिक थी।

सूरज का नहीं था असर 
Avi Loeb का Alien Life के सुबूत के तौर पर दावा जो करते हैं, वो है सूरज के गुरुत्वाकर्षण के असर का होना। Avi Loeb ने बताया कि Space Asteroid कि रफ्तार सूरज के करीब जाने पर तेज हो जाती है और सूरज से दूर जाने पर रफ्तार धीमी पड़ जाती है। परंतु Oumuamua के साथ ऐसी कोई घटना नहीं हुई। उन्होंने यह भी बताया कि उसकी किसी Asteroid की तरह कोई पूंछ नहीं थी, इसमें ना ही किसी भी तरह के कार्बन के संकेत पाए गए।Oumuamua के चक्कर का जो रास्ता था वो अपने आप मे हैरान करने वाला था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *